Breaking News

आवश्यकता है “बेखौफ खबर” हिन्दी वेब न्यूज़ चैनल को रिपोटर्स और विज्ञापन प्रतिनिधियों की इच्छुक व्यक्ति जुड़ने के लिए सम्पर्क करे –Email : [email protected] , [email protected] whatsapp : 9451304748 * निःशुल्क ज्वाइनिंग शुरू * १- आपको मिलेगा खबरों को तुरंत लाइव करने के लिए user id /password * २- आपकी बेस्ट रिपोर्ट पर मिलेगी प्रोत्साहन धनराशि * ३- आपकी रिपोर्ट पर दर्शक हिट्स के अनुसार भी मिलेगी प्रोत्साहन धनराशि * ४- आपकी रिपोर्ट पर होगा आपका फोटो और नाम *५- विज्ञापन पर मिलेगा 50 प्रतिशत प्रोत्साहन धनराशि *जल्द ही आपकी टेलीविजन स्क्रीन पर होंगी हमारी टीम की “स्पेशल रिपोर्ट”

Saturday, July 13, 2024 7:22:16 PM

वीडियो देखें

केवाईसी से पात्रों को मिलेगा लाभ अपात्र होंगे वंचित, पूर्ति निरीक्षक

केवाईसी से पात्रों को मिलेगा लाभ अपात्र होंगे वंचित, पूर्ति निरीक्षक

रिपोर्ट : रियाज अहमद 

 

पयागपुर बहराइच। खाद एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश के निर्देशन पर शुरू हुआ ब्लॉक वार लाभार्थियों की केवाईसी तमाम मृतक व बाल आधार कार्ड लगाकर फ्री राशन खाने वाले होंगे बेदखल फिर पात्र अथवा लाभ से वंचित गरीबों को मिल सकेगा खाद्यान्न, इसके लिए जिलाधिकारी बहराइच के निर्देशों के तहत पयागपुर विकास खंड के साथ नगर पंचायत पयागपुर के पीडीएस विक्रेताओं को आदेश का प्रपत्र मिल चुका है। पूर्ति निरीक्षक संतोष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पयागपुर में 28,5,79 पात्र गृहस्थी के कार्ड धारक दर्ज हैं। जिसकी कुल यूनिट 1,21,568 है। इसी क्रम में अंतोदय के 7332 कार्ड धारक हैं, जिसकी यूनिट 19,204 है। कुल मिलाकर 35,911 कार्ड धारकों में 1,40,772 यूनिट का राशन आ रहा था। जिसमें मुर्दे का लाभ परिवार के सदस्य भी। डकार रहे थे। इसी प्रकार नगर पंचायत पयागपुर 3084 कार्ड पात्र गृहस्थी के बने थे जिसकी यूनिट 13,600 है। 966 अंतोदय कार्ड धारक में 2656 यूनिट का लाभ ले रहे थे। जिसकी केवाईसी के लिए संबंधित पीडीएस विक्रेताओं को निर्देशित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि केवाईसी से तमाम पत्र लाभ पा सकेंगे तथा अपात्र हट जाएंगे। इसी क्रम में विशेश्वरगंज विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत 34,474 पात्र गृहस्थी कार्ड धारक दर्ज हैं। जिसकी यूनिट 15,100 3 है। 4685 अंत्योदय कार्ड धारक हैं। जिसकी यूनिट 11404 दर्ज है। शासन की तरफ से इस तरह की पहल से जहां, गरीबों को पूरी तरह लाभ मिलने की संभावना बन गई है। वहीं अब तक लाभ पाने वाले अपात्र लोग चिंतित नजर आ रहे।

व्हाट्सएप पर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *