Breaking News

आवश्यकता है “बेखौफ खबर” हिन्दी वेब न्यूज़ चैनल को रिपोटर्स और विज्ञापन प्रतिनिधियों की इच्छुक व्यक्ति जुड़ने के लिए सम्पर्क करे –Email : [email protected] , [email protected] whatsapp : 9451304748 * निःशुल्क ज्वाइनिंग शुरू * १- आपको मिलेगा खबरों को तुरंत लाइव करने के लिए user id /password * २- आपकी बेस्ट रिपोर्ट पर मिलेगी प्रोत्साहन धनराशि * ३- आपकी रिपोर्ट पर दर्शक हिट्स के अनुसार भी मिलेगी प्रोत्साहन धनराशि * ४- आपकी रिपोर्ट पर होगा आपका फोटो और नाम *५- विज्ञापन पर मिलेगा 50 प्रतिशत प्रोत्साहन धनराशि *जल्द ही आपकी टेलीविजन स्क्रीन पर होंगी हमारी टीम की “स्पेशल रिपोर्ट”

Saturday, July 13, 2024 6:04:23 PM

वीडियो देखें

उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ ने जैसलमेर में तनोट माता मंदिर में दर्शन किये

उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ ने जैसलमेर में तनोट माता मंदिर में दर्शन किये

उपराष्ट्रपति ने बावलियांवाला सीमा चौकी का दौरा किया, बीएसएफ जवानों से मुलाकात की

राष्ट्र के प्रति आपका प्रेम एवं प्रतिबद्धता वंदनीय है, मैं आपको नमन करता हूं, बीएसएफ जवानों को संबोधित करते उपराष्ट्रपति

इस विषम परिस्थिति में भी राष्ट्र के प्रति आपका समर्पण अनुकरणीय है: उपराष्ट्रपति

आज भारत की बेटियाँ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही हैं: उपराष्ट्रपति

आज का भारत दुनिया के नक्शे पर अलग भारत है: उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ दो दिवसीय दौरे पर आज जैसलमेर पहुंचे

माननीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ और डॉ सुदेश धनखड़ आज दो दिवसीय दौरे पर राजस्थान के जैसलमेर पहुंचे। जैसलमेर एअरपोर्ट पर उनका स्वागत राजस्थान सरकार के मंत्री श्री जोगाराम पटेल एवं अन्य गणमान्य जनों द्वारा किया गया।

जैसलमेर से उपराष्ट्रपति महोदय हेलीकॉप्टर द्वारा तनोट माता के मंदिर में पहुंचे जहां सीमा सुरक्षा बल के जवानों द्वारा उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। श्री जगदीप धनखड़ व डॉ सुदेश धनखड़ ने तनोट माता के दर्शन कर पूजा अर्चना की और समस्त देशवासियों के सुख, समृद्धि और खुशहाली के लिए प्रार्थना की।

दर्शन के उपरांत एक ट्वीट कर उपराष्ट्रपति जी ने कहा –

“जैसलमेर में लोंगेवाला के समीप तनोट माता मंदिर में दर्शन का सौभाग्य मिला। मां के श्री चरणों में शीश झुका कर धन्य हुआ!

यह दिव्य मंदिर विषम परिस्थितियों में देश की रक्षा में तैनात जवानों की अटूट श्रद्धा का केंद्र है।

तनोट माता से प्रार्थना है कि समस्त देशवासियों को सुख, समृद्धि और खुशहाली दें, सबकी मनोकामनाएं पूर्ण करें!”

इसके पश्चात् उपराष्ट्रपति महोदय अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर बावलियांवाला चौकी पहुंचे और वहां तैनात बीएसएफ के जवानों से मुलाकात की। कठिन परिस्थितियों में देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे सैनिकों की प्रशंसा करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि उनके साहस और त्याग के कारण ही सभी देशवासी चैन की नींद सो पाते हैं।

इस अवसर पर बीएसएफ़ जवानों का उत्साह वर्धन करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा,

“आप लोगों का योगदान, आपकी तपस्या और कर्तव्यनिष्ठा अभिनंदनीय है, आप बेहद चुनौतीपूर्ण स्थिति में देश सेवा करते हो। BSF के जवानों के हौसले बढ़ाने में माताओं- बहनों का बहुत बड़ा योगदान है जिन्होंने दिल पर पत्थर रखकर कहा कि, “जाओ और अपने देश की रक्षा करो।”

आज का भारत दुनिया के नक्शे पर अलग भारत है। सबसे तेज़ी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्थाओं में से है, पाँचवी महाशक्ति है। कुछ वर्षों में हम विश्व की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था होंगे। 2047 में विकसित भारत होगा, आप इस मैराथन के सिपहसालार हैं।

आपका काम बहुत चुनौतीपूर्ण है, आपकी राष्ट्र भावना, राष्ट्र के प्रति आपका प्रेम, आपकी प्रतिबद्धता वंदनीय है। मैं आपको नमन करता हूँ, देश के जवानों पर मुझे गर्व है, आप सभी का अभिनंदन करता हूँ।

मैं सैनिक स्कूल का स्टूडेंट रहा हूँ, इसलिए भी आपसे बेहद लगाव है। जब मैंने यहाँ बच्चियों को देखा, तो कभी नहीं सोचा था कि हमारी बेटियाँ इतना उत्कृष्ट काम करेंगी। बेटियाँ आज कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रहीं हैं। इस विषम परिस्थिति में भी राष्ट्र के प्रति आपका समर्पण अनुकरणीय है।

मेरी यही कामना है कि आप सभी सुखी रहें।”

उपराष्ट्रपति को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बीसएफ के महानिदेशक श्री नितिन अग्रवाल ने कहा कि,

“विषम परिस्थिति और मौसम के बीच उपराष्ट्रपति का यहाँ आकर जवानों की हौसला-अफ़ज़ाई करने के कदम ने सभी के अंदर एक नई ऊर्जा का संचार किया जिसके लिए वे उनके आभारी हैं।

आज रात उपराष्ट्रपति जैसलमेर में रुकेंगे और कल 14 जून को वे 154 बटालियन, बीएसएफ के मुख्यालय में एक समारोह में भाग लेंगे व सीमा सुरक्षा बल के जवानों व अधिकारियों से संवाद करेंगे।”

व्हाट्सएप पर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *